May 21, 2024
बेकिंग सोडा और सेंधा नमक के साथ पानी पीने के फायदे

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक के साथ पानी पीने के फायदे और नुकसान, जाने पुरी विस्तार से

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक के साथ पानी पीने के फायदे और नुकसान Baking soda aur sendha milakaar pani pine se kaya hota hai 

Introduction:

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक के साथ पानी पीने के फायदे! यह एक स्वास्थ्य को बनाए रखने वाला प्रदान करने के लिए भी अनोखा है। इस लेख में, हम जानेंगे कि बेकिंग सोडा और नमक के साथ पानी पीने के कैसे फायदे हो सकते हैं।

 

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक के साथ पानी पीने के फायदे !

पाचन को सुधारें

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक का पानी पीना पाचन को सुधार सकता है। यह अम्ल की मात्रा को संतुलित करके अच्छी पाचन को बढ़ावा देता है और अपच की समस्याओं को कम कर सकता है।

वजन नियंत्रण में मदद

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक के साथ पानी पीने से शरीर का pH स्तर संतुलित रहता है, जिससे वजन नियंत्रित रहता है। यह भी मदद कर सकता है वजन कम करने में।

शरीर की सफाई

बेकिंग सोडा विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है, जबकि नमक शरीर के अधिशेष को निकालने में मदद करता है। इसके परिणामस्वरूप, आपका शरीर साफ और स्वस्थ रह सकता है।

हृदय स्वास्थ्य

सेंधा  नमक का उचित मात्रा में सेवन करना हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकता है। इसमें मौजूद धातुओं के कारण, यह हृदय की समस्याओं से बचाव कर सकता है।

मूत्र तंतु स्वास्थ्य

जब हम बेकिंग सोडा और सेंधा नमक का पानी पीते हैं, तो हमारे मूत्र तंतु को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। यह बाहर निकलने के लिए शरीर से विषैले पदार्थों को निकाल सकता है जो हमारे तंतु को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं।

मानसिक स्वास्थ्य

यह पानी मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में भी मदद कर सकता है। शरीर के संतुलित pH स्तर की बजाय, यह मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में सहायक हो सकता है।

सावधानियां: बेकिंग सोडा और नमक का साथी पीना सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है, लेकिन इसे अधिक मात्रा में सेवन से बचना चाहिए। हमेशा अच्छे संरक्षण और सलाह के साथ इसका उपयोग करें।

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक पानी पीने का सही तरीका

बेकिंग सोडा और नमक पानी पीना एक प्राकृतिक तरीका है जो कई स्वास्थ्य सम्बन्धित लाभ प्रदान कर सकता है। यहां एक सामान्य तरीका है जिसे आप अपना सकते हैं:

  1. एक गिलास पानी (लगभग 8 अंश) लें।
  2. उसमें आधा छोटा चमच्च बेकिंग सोडा (बेकिंग पाउडर) मिलाएं।
  3. फिर आधा छोटा चमच्च सेंधा नमक मिलाएं।
  4. इसे अच्छे से मिलाएं ताकि बेकिंग सोडा और सेंधा नमक पूरी तरह से पानी में घुल जाएं।
  5. इस मिश्रण को धीरे से पीएं। यह बेहद नमकीन हो सकता है, इसलिए शुरुआत में आप इसे थोड़े-थोड़े समय बाद पी सकते हैं और फिर अधिक पिने के लिए समय के साथ धीरे-धीरे बढ़ा सकते हैं।
  6. इसे पीने के बाद, कुछ पानी से मुँह को ढो लें।

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक पानी पीने का सही समय !

बेकिंग सोडा और नमक का पानी अलग-अलग समय पर पी सकते हैं:

  1. सुबह: कुछ लोग खाली पेट सुबह में बेकिंग सोडा और सेंधा नमक का मिश्रण पीते हैं। यह पाचन को सहायता देने और शरीर के pH स्तर को बनाए रखने में मदद कर सकता है।
  2. दिन के दौरान: कुछ लोग भोजन से पहले इसे पीते हैं ताकि पाचन में मदद मिले या जलन या एसिड रिफ्लक्स जैसे लक्षणों में राहत मिल सके।
  3. व्यायाम से पहले: व्यायाम से पहले इसे पीना वातावरणीय बनाने और इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस के साथ मदद कर सकता है क्योंकि इसमें नमक होता है।
  4. सोने से पहले: कुछ लोग इसे सोने से पहले पीते हैं ताकि विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद मिल सके, लेकिन यह कुछ लोगों की नींद पर असर कर सकता है क्योंकि इसमें नमक होता है।

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक पानी पीने के कुछ साइड इफ़ेक्ट हो सकते है!

बेकिंग सोडा और नमक के पानी का सेवन करने से कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जो निम्नलिखित हो सकते हैं:

ऊंचा रक्तचाप

बहुत अधिक मात्रा में नमक का सेवन करने से रक्तचाप में वृद्धि हो सकती है।

विकार और ऐंठन

अत्यधिक बेकिंग सोडा का सेवन करने से पेट में ऐंठन, गैस और विकार हो सकते हैं।

पोटेशियम की कमी

सेंधा नमक का अधिक सेवन करने से पोटेशियम की कमी हो सकती है जो शरीर के इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस को प्रभावित कर सकती है।

शरीर के pH स्तर का बिगड़ना

बेकिंग सोडा का अधिक सेवन करने से शरीर के pH स्तर में बिगड़ाव आ सकता है।

संक्रमण का खतरा

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक का सेवन अत्यधिकता में संक्रमण का खतरा बढ़ा सकता है।

ये साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, इसलिए यदि आप इनका इस्तेमाल कर रहे हैं तो मात्रा में सावधानी बरतें और अगर आपको कोई समस्या हो तो डॉक्टर से परामर्श करे

निष्कर्ष: 

बेकिंग सोडा और सेंधा नमक के साथ पानी पीने के कई फायदे हो सकते हैं। यह प्राकृतिक तरीका है जो पाचन को सुधार सकता है, शरीर के pH स्तर को संतुलित कर सकता है और एसिडिटी जैसी समस्याओं में राहत दे सकता है। इसका सेवन व्यायाम से पहले या भोजन के बाद किया जा सकता है, और यह इलेक्ट्रोलाइट्स के संतुलन को बनाए रखने में मदद कर सकता है। हालांकि, यह ध्यान देने वाली बात है कि इसे अधिक मात्रा में न पीना चाहिए और अगर आपको किसी स्वास्थ्य समस्या हो तो डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

You May Also Read…

तुलसी के पत्ते खाने से क्या लाभ होता है? आये जानते है पुरी विस्तार से tulsi ke patte khane ke fayede

अंजीर खाने के फायदे और नुकसान जानिए पूरी विस्तार से, anjeer khane ke fayede aur nuksan

बालों के विकास के लिए मेथी का उपयोग कैसे करें, जानिए पूरी विस्तार से baalon ke vikaas ke lie methi ka upayog kaise Karen

रात को ओट्स खाने से क्या होता है, जाने विस्तार से – raat ko oats khane se Kya hota hai